क्रोध को ऐसे टालना

*क्रोध को ऐसे टालना-*

क्रोध सोमवार को आये, तो कहना कि सप्ताह की शुरुआत है - आज नहीं करूँगा । 

मंगलवार को आये, तो बोलना कि मंगल में अमंगल क्यों करूँ । 

बुध को आये, तो कहना कि बुध तो शुद्ध है - इसे अशुद्ध क्यों करुँ । 

गुरुवार को आये, तो बोलना आज तो गुरु का दिन है - मन में शान्ति रखना है । 

शुक्रवार को आये, तो कहना कि शुक्र को तो शुक्रिया अदा करना है भगवान का । 

शनिवार को आये, तो सोचना कि शनि के दिन घर में शनिचर क्यों आयें 

और रविवार को आये, तो कहना- आज तो छुट्टी का दिन है । 

खुश रहिये, मुस्कराते रहिये और हाँ, कभी क्रोध न कीजिये

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *